झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आदिवासी छात्रावास परिसर में कर्मा पर्व छात्रों के साथ मनाया।

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आदिवासी छात्रावास परिसर में कर्मा पर्व छात्रों के साथ मनाया।

रांची वीमेंस कॉलेज साइंस ब्लॉक स्थित आदिवासी छात्रावास परिसर में प्रकृति पर्व करमा के अवसर पर समारोह का आयोजन किया गया. इस मौके पर उपस्थित झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि यह पर्व अपनी समृद्ध परंपरा, सभ्यता और संस्कृति को अक्षुण्ण रखने का प्रतीक है. हम इस पर्व के माध्यम से अपनी सभ्यता और संस्कृति को और मजबूत बनाने का संकल्प लें. उन्होंने कहा कि करमा सिर्फ त्यौहार मात्र नहीं है, बल्कि यह कई संदेश भी हमें देता है. ये पर्व मानव जीवन का प्रकृति से अटूट लगाव को दर्शाता है. सदियों से मानव सभ्यता और प्रकृति के बीच के समन्वय को बताता है.
संताल परगना को मिली 3 नई रेलगाड़ियों की सौगात,सांसद निशिकांत दुबे ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी।

यहां चलना ही नृत्य है और बोलना ही गान है. करमा पर्व इसी की पहचान है.झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि लगभग डेढ़ साल से पूरी दुनिया कोरोना महामारी को झेल रही है. इस वजह से पूरी व्यवस्था अस्त व्यस्त हो गई है. झारखंड भी इससे अछूता नहीं रहा, लेकिन आपके सहयोग और ताकत से हम कोरोना को नियंत्रित करने में कामयाब हुए हैं. झारखंड में कोरोना को काबू करने के लिए सरकार ने जो कदम उठाए, वह पूरी दुनिया के लिए मिसाल बन गई.

पत्रकार राहुल पांडेय पर शराब माफिया संतोष पाठक ने किया हमला

अब वैश्विक महामारी के इस दौर से आगे निकलते हुए विकास को रफ्तार देने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं.इससे पहले करमा पर्व पर आयोजन समिति के द्वारा मुख्यमंत्री का परंपरागत तरीके से स्वागत किया गया. मुख्यमंत्री ने करम राजा की पूजा की. इस दौरान मुख्यमंत्री ने मांदर पर थाप दी तो छात्र-छात्राओं के कदम थिरक उठे. समारोह में मुख्यमंत्री को आयोजकों की ओर से औषधीय पौधे भेंट किए गए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES