निक्की प्रधान सलीमा टेटे

निक्की प्रधान और सलीमा टेटे का भव्य स्वागत

टोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन से भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ी ने हर भारतीयों का दिल जीता. इस टीम में झारखंड की दोनों बेटियां सलीमा टेटे और निक्की प्रधान भी शामिल थीं. बुधवार को दोनों महिला खिलाड़ी झारखंड लौटीं. बिरसा मुंडा एरपोर्ट पर खेल मंत्री हफीजुल हसन ने उनका स्वागत किया. वहीं, एयरपोर्ट में ही सलीमा टेटे की मां ने उन्हें गले लगाते वक्त भावुक हो गयीं. वहां से दोनों प्रोजेक्ट भवन गयीं, जहां सीएम हेमंत सोरेन उन्हें सम्मानित कर 50-50 लाख रुपये का चेक, स्कूटी, स्मार्टफोन और लैपटॉप दिया. इसके अलावा सरकार दोनों खिलाड़ियों को पक्का मकान देगी.

इसे भी पढ़े :-

बता दें कि झारखंड सरकार ने ओलंपिक शुरू होने से पहले ही घोषणा की थी कि राज्य के खिलाड़ियों के स्वर्ण जीतने पर दो करोड़, रजत जीतने पर एक करोड़ और कांस्य जीतने पर पचास लाख रुपये दिए जाएंगे. लेकिन महिला हॉकी खिलाड़ी के शानदार प्रदर्शन को देख मुख्यमंत्री अपने घोषणा को संशोधित कर दोनों महिला हॉकी खिलाड़ी को राशि देने और उनके कच्चे मकान को पक्का करने की घोषणा की थी.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा क‍ि झारखंड के लिए यह गर्व का विषय है, आज राज्य की दो बेटियां उस टीम का हिस्सा बनी, जिसपर पूरे देश को नाज है. सभी खिलाड़ियों को मैं अपनी तरफ शुभकामनाएं देता हूं. इसके बाद मुख्यमंत्री ने दोनों महिला खिलाड़ियों को 50-50 लाख का चेक और स्कूटी की चाबी और लैपटॉप दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा क‍ि सलीमा और निक्की ने खेल जगत में एक बड़ा उदाहरण पेश किया है. निक्की और सलीमा की टीम ने ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन किया. भारत की टीम का सीमित संसाधनों में शानदार प्रदर्शन रहा. सलीमा, निक्की ने मेहनत कर टीम में अपनी जगह बनाई, जिसके लिए दोनों बधाई के पात्र हैं. राज्य सरकार ने पुरस्कार, लैपटॉप, स्कूटी देकर इनका हौसला देने का काम किया है. साथ ही खेल के दौरान घटना होने पर खिलाड़ियों का इलाज सरकार कराएगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार का उद्देश्य राज्य के खिलाड़ियों के लिए बेहतर नीतियां बना कर उसे अमल में लाना है. सरकार ने खेल को बढ़ावा देने के लिए प्रयास किया जा रहा है. खेल संसाधनों का विकास किया जा रहा है. खेल पदाधिकारियों की नियुक्ति की गयी है. खिलाड़ियों को सीधी नियुक्ति दी गयी है. उन्‍होंने कहा क‍ि झारखंड की खेल जगत में अलग पहचान है. इस क्षेत्र में हम कैसे और बेहतर कर सकते हैं, इसका भी ध्यान रखना होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES