श्रद्धा और आस्था के साथ मनाया गया श्री चित्रगुप्त पूजनोत्सव ,सांस्कृतिक कार्यक्रमों और प्रतियोगिताओं की धूम

रांची 6 नवम्बर. आज राजधानी रांची और झारखण्ड सहित पूरे देश में हर्षोल्लास के वातावरण में पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ भगवान जगत निर्माणकर्ता भगवान श्री ब्रह्मा जी की काया से उत्पन्न भगवान श्री चित्रगुप्त जी महाराज का पूजन धूमधाम के साथ मनाया गया. इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों और विविध प्रकार की प्रतियोगिताओं की धूम रही जिसमें सभी ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया.
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ.प्रणव कुमार बब्बू के अनुसार रांची सहित पूरे झारखण्ड में और पूरे देश के विभिन्न प्रदेशों में विशेष रूप से कायस्थ समुदाय के लोगों के द्वारा भगवान श्री चित्रगुप्त का पूजन किया गया. अपनी श्रद्धा-आस्था के अनुरूप चित्रांशों ने अपने घर के साथ ही विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर भी पूजन समारोह का आयोजन किया. सार्वजनिक रूप से सभी आयोजनो में वैश्विक महामारी कोरोना के मद्देनज़र सरकार एवं प्रशासन के द्वारा जारी गाइडलाइन का पूरी सक्रियता एवं सतर्कता के साथ पालन किया गया.
इन्हे भी पढ़े :-झारखण्ड में 24 घंटे में 16 कोरोना संक्रमित मिले, 13 सिर्फ रांची से !
सार्वजनिक पूजनोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रमों और विविध प्रकार की प्रतियोगिताओं के आयोजन की धूम रही जिसमें विशेष रूप से कायस्थों के साथ ही अन्य अन्य जाति और समुदाय के लोगों ने भी बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया.
डॉ.प्रणव कुमार बब्बू के अनुसार आज राजधानी में 27 स्थानों पर सार्वजनिक रूप से श्री चित्रगुप्त पूजनोत्सव का आयोजन किया गया जबकि प्राप्त जानकारी के अनुसार झारखlण्ड के विविध जिलों में 437 स्थानों में सार्वजनिक श्री चित्रगुप्त पूजनोत्सव आयोजित किये गये जहाँ भगवान श्री चित्रगुप्त जी महाराज की प्रतिमा की स्थापना की गयी. जबकि पूरे देश के विभिन्न प्रदेशों में हजारों स्थानों पर सार्वजनिक रूप से श्री चित्रगुप्त पूजनोत्सव का आयोजन किया गया. आज पूरे देश में कायस्थों ने अपने घर पर भी धूमधाम से चित्रगुप्त पूजन का आयोजन किया.
इन्हे भी पढ़े :
राजधानी के विभिन्न चित्रगुप्त पूजा समितियों जैसे हरमू, कोकर और अशोकनगर देवालय स्थित पूजा समिति समेत कई स्थानों पर दर्शन कर चित्रगुप्त भगवान का आशीर्वाद लिए। उनके साथ विजय दत्त पिंटू,मुकेश कुमार, सूरज कुमार सिन्हा, आलोक परमार,राजेश सिन्हा सन्नी समेत कायस्थ महासभा के अन्य सदस्य उपस्थित रहे।गौरतलब है की झारखण्ड में कायस्थ जाती चित्रगुप्तापूजा सालो से मानते आ रहे है लेकिन इस बार की पूजा कुछ अलग थी कई संस्थानों ने गरीबो के साथ इस पूजा को मनाया तो कई संस्थानों नव वृद्ध लोगोको कम्बल और स्मृति चिन्ह देकर उन्हें सम्मानित किया। विदित हो की कोरोना की लहाहर के बाद करीब दो साल बाद लोगो ने ख़ुशी के साथ पंडालों में भगवन चित्रगुप्त की आराधना की है जिसम्मे महिलाये बॉधे और बच्चो ने विशेष रूप से अपनी भागीदारी निवभाई है
इन्हे भी पढ़े :
रांची में बिहार कलब और अशोकनगर ने इस बार भगवन चित्रगुटा की पूजा के लिए विशेष तयारी की थी। इस बार चित्रांश समाज के लोगो ने पूजा के बाद भव्य आरती की और भगवन चित्रगुप्त से प्राथना किया की पुरे ब्रह्माण्ड यानि विश्व से कोरोनोअ नाम की ये बल (बीमारी ) दूर हो जाये और लोग एक बार फिर से पहले की तरह निर्भीक होकर घूम सके। इस बार पूजा के बाद संस्था के लोगो ने लोगो से मास्क पहनने और वैक्सीन लगवाने के लिए प्रोत्साहित किया ।
इन्हे भी पढ़े :
रांची में अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के अध्यक्ष डाक्टर सी बी सहाय ने लोगो से कहा की अभी कोरोना बीमारी दूर नहीं हुई है अभी जो लोग वैक्सीन नहीं लगाए है वे जल्द से जल्द जाकर वैक्सीन लगवाए और हमेशा मास्क पहने।,ताकि कोरोना की बीमारी हमसे दूर रहे। इस मौके पर उन्हें बताया की कोरोना की तीसरी लहार का खतरा अभी बना हुआ है और लोगो को भीड़ -भाड़ वाली जगह पर नहीं जाना चाहिए कई देशो में कोरोना एक बार फिर से लौट आया है और वो भी नए स्ट्रेन के साथ इसलिए इस गंभीर बीमारी को जड़ से मिटने के लिए हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की दी गई सलाह जरूर मन्नानी चाहिए जिसमे उन्होंने दो गज दुरी और मास्क है जरुरी की सलाह दी है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES