Hemant Soren Pti Image

तमिलनाडु से पश्चिमी सिंहभूम की 10 युवतियों की हुई घर वापसी,मुख्यमन्त्री के निर्देश पर युवतियों को काम के बकाया पैसे भी मिले।

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के निर्देश के बाद पश्चिमी सिंहभूम की 10 युवतियां तमिलनाडु के त्रिपुर से वापस झारखंड लौट आई हैं। सभी त्रिपुर में केपीआर 3 कंपनी में काम करने गई थीं, लेकिन वहां भाषा की समस्य़ा होने पर उन्हें काम करने में परेशानी होने लगी। इसके बाद युवतियों ने वापस आने के लिए श्रम विभाग के अन्तर्गत राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष से मदद मांगी।
इन्हे भी पढ़े :- ऊर्जा विभाग की भ्रस्टाचार की पूरी कहानी एक श्रृंखला से पढ़े: पहली कड़ी
मामले की जानकारी मिलने के बाद मुख्यमन्त्री ने श्रम विभाग और नियंत्रण कक्ष को युवतियों को वापस लाने का निर्देश दिया। नियंत्रण कक्ष ने केपीआर 3 कंपनी के मैनेजर से बात कर युवतियों के वापस आने की व्यवस्था कराई। तीन अक्तूबर को युवतियां त्रिपुर से झारखंड के लिए चलीं। सभी पांच अक्तूबर को वापस झारखंड (चक्रधरपुर) पहुंचीं। युवतियों ने जितने दिन त्रिपुर में काम किया था, उसका मेहनताना कुल 90,200 रुपये का भुगतान भी उन्हें किया गया। प्रत्येक युवती को 8200 रुपये मिले।
इन्हे भी पढ़े :- पीएम आवास पर उठा सवाल ? कच्चा मकान ध्वस्त,दबकर एक की मौत,एक ही परिवार के पांच लोग घायल।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES