Smartselect 20210320 212329 Google

मुख्यमंत्री के निर्देश पर हर जिले में भेजा गया वैक्सीन, निःशुल्क लगेगा टीका.

रांची : मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के नेतृत्व में राज्य सरकार ने 14 मई से 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को कोरोना का टीका लगाने की तैयारी पूरी कर ली है। इधर सरकार के प्रयासों से कोरोना संक्रमण में कमी नजर आ रही है। हालांकि अभी भी खतरा टला नहीं है और नागरिकों को एहतियात बरतने की सलाह हर स्तर पर लगातार दी जा रही है। उधर 10 मई तक केंद्र सरकार के कोटे से 4,14 340 डोज कोवैक्सीन के और 2,34,400, डोज कोवीशील्ड के वितरण के लिए स्टॉक में हैं। रांची में राज्य सरकार के स्टॉक में को-वैक्सीन की 1,34,400 और कोवीशील्ड की 1, 00, 000 डोज उपलब्ध है। ये सभी वैक्सीन राज्यवासियों को निःशुल्क दिये जायेंगे।

किस जिल में भेजी गई कितनी वैक्सीन

जिला,  कोवैक्सीन,  कोवीशील्ड,  कुल

बोकारो     2630,    4230,      6860
चतरा       6600,     8130    14730
देवघर      4570,    12760,   17330
धनबाद     20410    2860    23270
दुमका        24620   15290  39910
ईस्ट सिंहभूम 5320,   4320,   9640
गढ़वा             8240, 8960,  17200
गिरिडीह         23190, 9150 32340
गोड्डा              9280, 7580, 16860
गुमला             12070, 3130, 15200

हजारीबाग       19480, 7230, 26710
जामताड़ा          6280, 6530, 12810
खूंटी                15820, 4490, 20310
कोडरमा             5370, 5980, 11350
लातेहार              3850, 7400, 11250
लोहरदगा            11430, 7330, 18760
पाकुड़                10670, 6230, 16900
पलामू                 32510, 7220, 39730
रामगढ़।              680, 4890, 5570
रांची                   9110, 7030, 16140
साहिबगंज           8370, 7620, 15990
सरायकेला खरसावां 700, 1260, 1960
वेस्ट सिंहभूम           9960, 3690, 13650

टीकाकरण अभियान में नागरिकों को बनना होगा सहभागी
राज्य सरकार ने 14 मई से 18 से 44 वर्ष के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत को लेकर हर स्तर पर मुकम्मल व्यवस्था की है। अभी तक राज्य के 18-44 आयुवर्ग में लगभग 30 हजार लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। रांची बोकारो सहित कुछ अन्य शहरी क्षेत्रों में लोगों में टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन को लेकर काफी उत्साह दिख रहा है। लेकिन, कई जिले ऐसे हैं, जहां अभी भी लोगों में टीकाकरण को लेकर जागरूकता नहीं दिख रही है।

जनजातीय भाषाओं में भी टीकाकरण को लेकर प्रचार
टीकाकरण को लेकर लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए विभिन्न माध्यमों का सहारा सरकार ले रही है। जनजातीय भाषाओं में भी सरकार टीकाकरण से संबंधित प्रचार कर रही है। संथाली, मुंडारी, हो, सहित अन्य भाषाओं में विज्ञापन प्रकाशित किए गए हैं । इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में सखी मंडल की  दीदीयां भी प्रचार में जुटी हैं। मुख्यमंत्री ने खुद टीका का डोज लेकर राज्य के लोगों को यह संदेश दिया है कि यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है और इससे कोई नुकसान नहीं होगा, बल्कि इससे ही कोरोना को करारा जवाब दिया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES