Terrorism Vs  Freedom Movement

झारखण्ड बिनोवा भावे यूनिवर्सिटी के प्रश्नपत्र में पूछा आतंकवाद (terrorism)पर निबंध लिखिए

बड़ी चूक 

Terrorism VS  Freedom Movement

विनोबा भावे विश्वविद्यालय में इतिहास के पाठ्यक्रम में आतंकवादी (terrorism)आंदोलन की पढ़ाई होती है ! क्रांतिकारी आंदोलन को भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में के इतिहास में आतंकवादी आंदोलन शीर्षक से पाठ्यक्रम में शामिल किया गया। अप्रैल में ली गई बीए इतिहास सेमेस्टर 5 की परीक्षा में छात्रों से सवाल दिया गया कि आतंकवादी आंदोलन पर निबंध लिखें। प्रश्न पत्र सामने आने के बाद छात्र और अभिभावक भी हैरत में है। इतिहास का सिलेबस देखने पर पता चला कि कोर्स में भारतीय स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन अट्ठारह सौ सत्तावन से 1847 का कंटेंट पढ़ाया जाता है।

 

भीषण गर्मी (HEAT WAVE) में जनता त्रस्त और हेमंत सरकार के अधिकारी हैं मस्त : बाबूलाल मरांडी

 

दूजे अट्ठारह में पीजी के हेड डॉ पी के प्रधान थे उनके कार्यकाल में नया सिलेबस तैयार किया गया था। इस में क्रांतिकारी आंदोलन को आतंकवादी आंदोलन लिख दिया गया है। 1915 से 1947 के कालखंड में आजाद भारत के लिए महान क्रांतिकारी खुदीराम बोस भगत सिंह चंद्रशेखर आजाद राजगुरु बटुकेश्वर दत्त रासबिहारी बोस प्रफुल्ल चाकी करतार सिंह सराभा श्यामजी कृष्ण वर्मा मैडम काका चापेकर बंधु मास्टर्डा सूर्य सेन वाडेकर आदि ने आंदोलन किया था। ब्रिटिश हुकूमत इन नायकों को आतंकवादी मांग की थी। आजाद भारत में इन क्रांतिकारियों का नाम बड़े सम्मान से लिया जाता है। इन वीरों के आंदोलन को क्रांतिकारी आंदोलन लिखना था लेकिन सिलेबस में आतंकवादी आंदोलन कर दिया गया।

 

निशिकांत दुबे ने लगाया आरोप SDO की सरकारी कोठी के नाम पर पंकज मिश्रा ने माइंस लीज का आवेदन दिया

सिलेबस में अंग्रेजी लिखा गया है रिवॉल्यूशनरी मूवमेंट हिंदी में कर दिया गया आतंकवादी आंदोलन
विनोबा भावे विश्वविद्यालय में 90% से अधिक विद्यार्थी हिंदी माध्यम से पढ़ाई करते हैं और परीक्षाएं भी हिंदी में ही देते हैं यूनिवर्सिटी में पाठ्यक्रम प्रश्न पत्र और उपाधियां हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होती हैं पुणिराम पीजी इतिहास के अध्यक्ष डॉक्टर अशोक मंडल ने बताया कि पहले अंग्रेजी में सिलेबस तैयार किया गया था इतिहास के सिलेबस में अंग्रेजी भाषा में रिवॉल्यूशनरी मूवमेंट लिखा गया है इसे हिंदी में अनुवाद करते समय गलती हो गई और प्रिंट भी गलत हो गया प्रश्नपत्र में भी यही भूल हुई है और आतंकवादी आंदोलन लिख दिया गया है गलतियों को सुधारने के लिए बात की जा रही है।
विश्वविद्यालय से मोटेशन बोर्ड नहीं जाता प्रश्नपत्र विनोबा भावे विश्वविद्यालय में प्रश्न पत्रों की गलती को ठीक करने के लिए मॉडरेशन बोर्ड का गठन किया गया है। बोर्ड गलतियों को सुधार ता है इधर विनोबा भावे स्टाइल ऐसे प्रश्न पत्रों को मॉडरेशन बोर्ड में नहीं भेजा जाता है सिर्फ रिजल्ट प्रकाशित करने से पहले इसे बोर्ड को भेजा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES