पारा शिक्षकों का बेतन मांग का होगा ऐलान 29 दिसंबर को !

पारा शिक्षकों का बेतन मांग का होगा ऐलान 29 दिसंबर को !

राज्य के 64 हज़ार पारा शिक्षकों को सरकार के दो साल पूरे होने के उपलक्ष्य में वेतनमान की सौगात मिलेगी। 29 दिसंबर को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पारा शिक्षकों के वेतनमान की घोषणा करेंगे।सोमवार को प्रोजेक्ट भवन में शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में इस पर सहमति बनी। अब पारा शिक्षकों के साथ अगली बैठक होगी, जिसमें उनके लिए बनाई गई सेवा शर्त नियमावली पर अंतिम सहमति बनेगी। इसके लिए छठ के बाद पारा शिक्षकों को बुलाया जाएगा। राज्य सरकार के आला अधिकारियों के साथ पारा शिक्षकों की सेवा शर्त नियमावली पर बैठक करने के बाद शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो ने कहा कि नियमावली पहले से तैयार है।

इन्हे भी पढ़े :- छठ महापर्व को लेकर ट्रैफिक पुलिस ने राजधानी की यातायात व्यवस्था में बदलाव किया है. इसके तहत बुधवाए/ गुरुवार मध्यरात्रि में (रत ॥:00 बजे से तड़के 2:00 बजे तक) मात्र तीन घंटे के लिए ही बढ़े वाहनों को शहर में प्रवेश मिलेगा. डीएसपी जीतवाहन उरांव के हस्ताक्षर से जाती आदेश के तहत पहले अर्थ के दिल (10 अक्तूबर) सुबह 8:00 बजे से रात 11 बजे तक शहर में भारी वाहनों का प्रवेश नहीं होगा.छठ को लेकर ट्रैफिक पुलिस ने राजधानी की यातायात व्यवस्था में किया बदलाव केवल 3 घंटे के लिए मिलेगा बड़े गाड़ियों को एंट्री ।

पारा शिक्षकों को बिहार मॉडल पर वेतनमान का लाभ दिया जाएगा। 202। पार नहीं होगा। इसी साल 29 दिसंबर को वेतनमान देने की घोषणा की जाएगी। बैठक कर सहमति बना ली गई है। अब छठ पर्व के बाद पारा शिक्षकों को बुलाकर बैठक की जाएगी। तीन आकलन परीक्षा (दक्षता परीक्षा) में पास नहीं करने वाले पारा शिक्षकों पर कहा कि बिहार मॉडल लागू करने की बात है, इसमें जो होगा लागू किया जाएगा। पारा शिक्षकों के साथ अंतिम सहमति के बाद सेवा शर्त नियमावली के प्रस्ताव को वित्त विभाग और विधि विभाग भेजा जाएगा। दोनों विभागों से स्वीकृति मिलने के बाद राज्य सरकार इस पर अपनी मुहर लगाएगी।

इन्हे भी पढ़े :- चांडिल में हाइडल पावर प्लॉट की अद्यतन स्थिति पर मुख्यमंत्री हेमंत सौरेन ने जेरेडा से रिपोर्ट मांगी है. एक दिन पहले सीएम चांडिल गये हुए थे. उन्हें जानकार मिली कि बिहार के समय से ही यहां आठ मेगाबाट के जल विद्युत परियोजना का काम लंबित है. बताया गया कि आठ मेगावाट की इस परियोजना के चालू हो जाने से आसपास के सभी इलाकों में पर्याप्त बिजली की उपलब्धता हो जायेगी. इसकी लागत भी एक रुपये से भी कम पड़ती है. इधर जेरेडा द्वार मुख्यमंत्री के लिएरिपोर्ट तैयार की जा रही है. ‘चांडिल हाइडल पावर प्लांट पूर्व में बिहार हाइड़ो पावर कॉरपोरेशन (बीएचपीसी) द्वारा संचालित था. उसी दौरान काम शुरू हुआ था. इसी बीच झारखंड अलग राज्य बन जाने के बाद काम ठप हा गया था. चांडिल में हाइडल पावर प्लॉट की अद्यतन स्थिति पर मुख्यमंत्री हेमंत सौरेन ने जेरेडा से रिपोर्ट मांगी।

पंचायत और प्रखंड सहायक अध्यापक कहलाएंगे पारा शिक्षक: राज्य के पारा शिक्षक वेतनमान मिलने के साथ पारा शिक्षक नहीं कहलाएंगे। वह पंचायत सहायक अध्यापक और प्रखंड सहायक अध्यापक कहलाएंगे ।इन पारा शिक्षकों को चार श्रेणियों में बांटा जाएगा। स्नातक प्रशिक्षित व शिक्षक पात्रता परीक्षा पास पारा शिक्षक और स्नातक प्रशिक्षित व आकलन परीक्षा पास पारा शिक्षक प्रखंड सहायक अध्यापक कहलायेंगे। इंटरमीडिएट प्रशिक्षित व शिक्षक पात्रता परीक्षा पास पारा शिक्षक और इंटरमीडिएट प्रशिक्षित और आकलन परीक्षा पास पारा शिक्षक पंचायत सहायक अध्यापक कहलाएंगे।

इन्हे भी पढ़े :-रांची : आज दिनांक 8 नवंबर 2021 दिन सोमवार अपराह्न 2: 30 बजे से 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का गायन नृत्य एवं नाटक का इवेंट किड्स बॉस सीजन वन माही रेजिडेंसी में संपन्न हुआ। कार्यक्रम का आयोजन युवा निर्देशक कुमार अनुपम के अर्थ टीवी एवं कुमार अनुपम प्रोडक्शन के संयुक्त बैनर तले आयोजित किया गया। ज्ञातव्य हो कुमार अनुपम की फिल्मों को लॉस एंजिल्स में आयोजित अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में सम्मानित किया गया है। कुमार अनुपम प्रोडक्शन के किड्स बॉस सीजन एक का रंगारंग इवेंट (EVENT) संपन्न

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES