Rajesh

किसानों की योजना में भर्ष्टाचार के आरोपी को आखिर क्यों दी गयी किसानों की ही इतनी बड़ी योजना की जिमेवारी ।

उपेंद्र / रिकी राज

आखिर क्यों मेहरबान है एक अधिकारी पर पूरा विभाग , बताया जाता है की इस अधिकारिंक विभाग में दबदबा कुछ इस कदर है की भ्रष्टाचार ले कई आरोप होते हुए भी इसे केंद्र सरकार की अति महत्वपूर्ण योजना का एक जिले का अधिकारी बनाया गया है ।

File
File

इस अधिकारी का नाम राकेश कुमार सिंह है और ये फिलहाल हजारीबाग में मोदी सरकार की अति महत्वकांक्षी योजना इनाम यानी ई – नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट के नोडल अफसर हैं। साथ ही हजारीबाग के मार्केट सेकेट्री भी है । लेकिन हैरत इस बात की है कि विभाग ने जिस आदमी पर इतनी बड़ी जिम्मेदारी सौपी है उसपर किसानों से ही रिस्वत लेने जैसे घिनौने आरोप लगे है।

इसे भो पढ़े :- झारखंड ग्रामीण विकास विभाग में भर्ती के लिए निकले गए विज्ञापन को किया गया रद्द, अब विभागीय संसोधन के बाद नये सिरे से निकलेगी बहाली।

आरोप है कि इन्होंने 2016 में गढ़वा में किसानों के योजना किसान सेड में किसानों से ही सेड लगवाने के एवज में डेढ़ लाख रुपए रिश्वत मांगे थे और एसीबी ने इन्हें एक लाख रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया था ।

इसे भी पढ़े ;- हाई कोर्ट ने सीबीआई को लगाई फटकार कहा बाबुओ की तरह काम कर रही है सीबीआई,29 अक्टूबर को सीबीआई निदेशक को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उपस्थित होने का निर्देश ।

आखिर ऐसे व्यक्ति पर विभाग इतनी मेहरबान क्यों है क्यों इन्हें केंद्र की इतनी बड़ी योजना की जिम्मेवारी दी गई है। जबकि बताया जाता है एसीबी की जांच के कारण अभी तक विभाग में इनकी सेवा संपुष्ट तक नही हुई है ।

इसे भी पढ़े ;- बासुकीनाथ टोल नाका में प्रवेश शुल्क के नाम पर अवैध वसूली, प्रमंडलीय आयुक्त द्वारा जांच में सही पाया गया दो दिनों में ठेकेदार से मांगा गया जबाब

करप्शन का आरोप झेल रहे इस अधिकारी की पूरी कहानी बताएंगे। इस कहानी में कोर्ट को भी गुमराह करने की कोशिश की गई है हम परत दर परत पूरी कलई खोलने की कोशिश करेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES