Ed Hemant 1

सीएम हेमंत सोरेन ने भरी हुंकार , बोले ED नोटिस क्यों भेजता है हिम्मत है तो गिरफ्तार करे ED सीबीआई कितनी स्वतंत्र एजेंसी है सब जानते है

मुकेश कुमार 

झारखण्ड में आज सियासी गर्मी देखने को मिली यूँ तो आज ED ने आज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अवैध खनन मामले में सम्मन जारी कर11 :30 बजे तक ED के दफ्तर पहुंचने को कहा था लेकिन यहाँ हुआ उसके उलट। हेमंत सोरेन एड दफ्तर पहुंचने के बजाय बीजेपी को सियासी ताकत दिखते नजर आये इस दौरान हजारो कार्यकर्त्ता मुख्यमंत्री के आवास पहुंच गए और ED और मोदी सरकारी के खिलाफ नारे लगाने लगे।
तो मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बहार निकल कर ऐसे भाषण दिया जिससे ED और बीजेपी को उनकी ताकत का अहसास हो जाये , हेमंत सोरेन ने कहा की ED नोटिस क्यों भेजता है हिम्मत है तो गिरफ्तार करे। इस दौरान

उन्होंने बीजेपी को भी मंच से चेतावनी भी दे डाली है कि झारखंडी अपने पर आ गए तो सर छुपाने कि जगह नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा-”अगर हमने गुनाह किया तो सीधा गिरफ़्तार करो… उन्होंने कहा की ED, भाजपा के कार्यालय की सुरक्षा बढ़ाई है। झारखंडियों से डर लगता है? अभी हमने कुछ किया भी नहीं, जब झारखंडी अपनी चीज़ों पर आ गए तो वह दिन दूर नहीं की आपको सीर छुपाने की भी जगह नहीं मिलेगी। इन लोगों ने हमेशा से यहां के आदिवासियों, दलितों, पिछड़ों को बर्बाद करने का काम किया है। यह लोग कभी नहीं चाहते कि यहां के आदिवासी, दलित, पिछड़े कभी आगे बढ़े। इन लोगों को आदिवासियों, दलितों, पिछड़ों से चिढ़ लगती है।

हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्यपाल हाथ में लिफाफा लेकर घूम रहे है, मैं देश का पहला ऐसा सीएम हूं जो कह रहा है कि गुनाह किया हूं तो गुनाह बता दिया जाए, मगर कोई कुछ नहीं बोल पा रहा है. क्योंकि मेरी नियत साफ है. झामुमो कार्यकर्ताओं के महाजुटान को संबोधित करते हुए सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि देश में आदिवासियों और दलितों का मजाक बनाया जा रहा है. भाजपा हमे एजेंसियों के बहाने डराना चाहती है. सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि मैं आदिवासी हूं. किसी से डरता नहीं हूं.

सीएम हेमंत सोरेन ने आगे कहा कि कुछ लोगों को गलतफहमी है कि ऐसी परिस्थितियों से मैं डर रहा हूं या घबरा रहा हूं. वो ये जान ले कि ऐसी परिस्थितियों से ना तो मैं डरा हूं और ना घबराया हूं. बल्कि इन परिस्थियों से तपकर ही मैं और ताकतवर हो रहा हूं. सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि ये लोग हमे जेल से डरा रहे है. ये लोग नहीं जानते कि अगर मैंने जेल भरना शुरू कर दिया, तो इतने लोग जेल जायेंगे की जेल भर जायेगा. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि संवैधानिक संस्थाओं के सहारे राजनीतिक रोटी सेकना बहुत दिनों तक नहीं चलेगा. क्योंकि अब इनकी रोटी पकेगी नहीं, बल्कि झारखंड की जनता इनकी राजनितिक रोटी को जला देगी.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गुजरात में रह रहे झारखंडियों से आह्वान करते हुए कहा कि एक भी वोट भाजपा को नहीं जाना चाहिए. आदिवासी भाई सतर्क हो जाये कि एक भी वोट भाजपा को नहीं जाना चाहिए. भाजपा आदिवासियों और दलितों का मजाक बना रही है. हमे शोषण का जरिया बना रखा है. अब समय आ गया है इन लोगों को जवाब देने का. सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि इन लोगों ने बहुत प्रयास किया कि मेरी सरकार गिर जाये, लेकिन कभी कामयाब नहीं हुए. हेमंत ने कहा कि जो लोग बीजेपी में चले जाते है उनके सारे पाप धुल जाते है, वे दूध के धुले हो जाते है. और जो बीजेपी में नहीं जाते, उनके पीछे ईडी और सीबीआई लगाकर डराया धमकाया जाता है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि हमारी सरकार आदिवासी-मूलवासी की सरकार है, बीजेपी या किसी में हिम्मत नहीं है कि 5 साल तक सरकार का बाल भी बांका कर सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES