1582801854Phpamzxrq

आंदोलनकारी छात्रों का सवाल का जवाब देने में जेपीएससी अध्यक्ष असक्षम पुनः 27/11/2021 शनिवार को झारखण्ड स्टेट स्टूडेंट यूनियन से होगी फिर से वार्ता, सातवीं से दसवीं जेपीएससी पीटी परीक्षाफल रद्द किया जाय – झारखंड स्टेट स्टूडेंट यूनियन

सातवीं से दसवीं जेपीएससी रद्द करने की मांग को लेकर लगातार आंदोलन के 23 वें दिनांक 23/11/21 को झारखंड स्टेट स्टूडेंट यूनियन के बैनर तले छात्र नेता देवेन्द्र नाथ महतो और मनोज यादव के नेतृत्व में बापू वाटिका से जेपीएससी मुख्यालय तक सातवीं से दसवीं जेपीएससी पिटी परीक्षा रद्द करने की मांग को लेकर न्याय गुहार यात्रा निकाला गया तथा जेपीएससी मुख्यालय पहुंचकर आयोग के अध्यक्ष से मुलाकात करके वार्ता किया। तथा सातवीं से दसवीं जेपीएससी पिटी परीक्षा रद्द करने को लेकर गुहार लगाया गया। मौके झारखंड स्टेट स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष देवेंद्र नाथ महतो और महासचिव मनोज यादव ने निहत्थे छात्रों पर लाठी चार्ज किया गया जो निंदनीय है , सरकार छात्रों के अधिकार के आवाज को दबाना चाह रही है जो झारखंड स्टेट स्टूडेंट यूनियन बर्दास्त नहीं करेगी, साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि सातवीं से दसवीं जेपीएससी में झारखंड गजट 2021 और विज्ञापन के नियम सिंगल कट ऑफ का पालन नहीं किया गया है यह नियुक्ति झारखंड सरकार द्वारा बनाई गई नियमावली के विरूद्ध है, जेपीएससी परीक्षाफल जारी हुए 23 दिन बीत चुके लेकिन आयोग अब तक कट जारी नहीं किया है जबकि अन्य राज्यों में परीक्षाफल जारी होने के साथ ही कट ऑफ जारी करती है, विभिन्न परीक्षा सेंटरों से सैकड़ों छात्र क्रमवार पास हुए हैं जो आज तक के यूपीएससी और किसी भी राज्य के पीसीएस परीक्षा के इतिहास में नहीं हुआ है, छठी जेपीएससी में कट ऑफ 206 अंक था जो सातवीं से दसवीं जेपीएससी में संभवतः कट ऑफ 262 अंक है दो परीक्षाफल के अंतराल लगभग कट ऑफ 60-60 अंक का अंतर आया है ये भी आज तक का यूपीएससी और किसी भी राज्य के पीसीएस परीक्षा में नहीं देखा गया है इसके अलावा अनेक गड़बड़ियां हैं इसीलिए आयोग तत्काल परीक्षा रद्द कर दे अन्यथा परीक्षाफल महाघोटाला का अनेक विस्फोटक सबूत है जो अभी सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है समय आने पर ये सबूत सीधे कोर्ट में प्रस्तुत किया जायेगा।

इन्हे भी पढ़े :- घर से फरार युवक की लाश मिली गेस्ट हाउस से।

जेपीएससी दुनिया का अनोखा आयोग है पूरी तरह कचड़ा का डब्बा बन गया है हमेशा अपने भाई भतीजा को अंदर करने के लिए नया नया हथकंडा अपनाता है, पहला दूसरा जेपीएससी घर बैठे परीक्षा लिया गया था जिसका अभी भी सीबीआई जांच चल रहा है, चौथा जेपीएससी में स्केलिं कर दिया, पांचवा जेपीएससी में पीटी आरक्षण में गड़बड़ी किया, छठी जेपीएससी में पीटी आरक्षण के साथ साथ हिंदी अंग्रेजी क्वालीफाइंग पेपर का अंक को मेरिट लिस्ट में जोड़ दिया तथा विषयवार फैल छात्रों को भी चयन कर लिया गया है। उक्त कार्यक्रम में पद्म श्री सम्मान से सम्मानित श्री मधु मंसूरी हंसमुख, माननीय विधायक भानु प्रताप शाही, नवीन जायसवाल और लम्बोदर महतो शिक्षक विनय सिंह, कुणाल प्रताप सिंह, अनिल मिश्रा, अरुण अग्रवाल, शिक्षिका स्मृति ऐश्वर्या , युवा मोर्चा अध्यक्ष किसलय तिवारी, राहुल कुमार शामिल होकर छात्रों का होंसला बढ़ाया। जेपीएससी अध्यक्ष के साथ वार्ता के लिए प्रतिनिधि मंडल के रूप में विधायक भानु प्रताप शाही, नवीन जयसवाल, लम्बोदर महतो, देवेंद्र नाथ महतो, मनोज यादव, कुणाल प्रताप, कहकहशा कमाल, प्रवीण कुमार चौधरी,किसलय तिवारी, राहुल अवस्थी, मनीष मिश्रा, राजेश ओझा, भारती कुशवाहा, परवेज आलम, गुलाम हुसैन, थे कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य रूप से कहकशा कमाल, स्नेहा मुंडा, परशुराम मानकी, नेहा उरांव, मो0 परवेज आलम, दीपक साहू, सोनू कुमार, संतोष ठाकुर, जावेद अख्तर, राजेश ओझा, सत्यनारायण शुक्ला, अरविंद कुमार महतो, लक्ष्मी कुमारी, मनीष मिश्रा, चंदन कुमार,कुणाल प्रसाद, प्रकाश महतो, अभय कुमार, सुधीर कुमार, दीपक कुमार, संजीत कुमार, रामाशीष कुमार, प्रवीण कुमार, रोहित कुमार महतो, प्रेमजित कुमार, रवि महतो, के अलावा अन्य लोगों का अहम योगदान रहा है।

इन्हे भी पढ़े :-विवाह के आधार पर नहीं मिलेगा आरक्षण का लाभ : हाई कोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES