राज्य के सबसे बड़े ग्रिड की सौगात मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 29 दिसंबर को सरकार की दूसरी वर्षगांठ के मौके पर देंगे

राज्य के सबसे बड़े ग्रिड की सौगात मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 29 दिसंबर को सरकार की दूसरी वर्षगांठ के मौके पर देंगे. इस दिन 400/220 केवी पतरातू ग्रिड का उदघाटन करेंगे. इस ग्रिड की क्षमता 630 मेगावाट की है. साथ ही इससे संबंधित 400 केवी बेड़ो-पतरातू
ट्रांसमिशन लाइन का भी उदघाटन होगा. सीएम इसके अलाबा रतुग्रिड और 220 कवि पतरातू रतु संचरण लाइन का उद्घाटन करेंगे . पत्रतृ रतु ग्रिड झारखण्ड का सबसे पहला राष्ट्रीय स्तर का 400 केवी क्षमता का ग्रिड है . रतु सबस्टेशन के परियोजना का लागत 106.85 करोड़ है, वही पतरातू ग्रिड की लागत 79.63 करोड़ की है. रातू, मांडर व लोहरदगा को मिलेगी पूरी बिजली .

इन्हे भी पढ़े :- झारखंड सरकार कोरोना के नये वैरिएंट की पहचान को लेकर जीनोम सिक्वेंसिंग मशीन की खरीद रिम्स के माध्यम से करने पर विचार कर रही है !

पतरातू ग्रिड सबस्टेशन से रातू ग्रिड एवं बुढ़मू ग्रिड को बिजली मिलेंगे जिससे रातू, मांडर व लोहरदगा बुढ़मू बेड़ो जैसे इलाके में पूरी बिजली रहेगी कहीं आनेवाले एक-दो वर्षों में जब पतरातू थर्मल से बिजली उत्पदित होने लगेगी, तो ये बिजली फिर बुढ़मू रतु होते हुए हटिया ग्रिड को मिलेगी. हटिया ग्रिड से राज्य के अन्यहिस्सों को भी बिजली मिलेगी. दूसरी ओर रातू ग्रिड से ककि ट्रांसमिशन लाइन के माध्यम से कांके ग्रिड भी रातू ग्रिड से जुड़जायेगा. तब काके ग्रिड को हटिया के अलाबा भी एक वैकल्पिक स्रोत मिल जायेगा. कंके के आसपास भी लोड शेडिंग की समस्या नहीं रहेगी. वहीं हटिया ग्रिड का भार भी कम होगा.

इन्हे भी पढ़े :-डॉ.विनीता सिंह का राष्ट्रीय परिषद् में आना झारखंड के लिए गौरव की बात : डॉ. प्रणव कुमार बब्बू

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES