Eee

ED:-निलंबित आईएएस छवि रंजन की रिमांड अवधि अभी 4 दिन बढ़ी , 16 मई को फिर होगी अदालत में पेशी

ED

प्रेरणा चौरसिया

Drishti  Now  Ranchi

प्रशासनिक छुट्टी पर आईएएस अधिकारी छवि रंजन को रिमांड खत्म होने के बाद आज पीएमएलए अदालत में पेश किया गया। कोर्ट ने उन्हें चार दिनों तक हिरासत में रखा था। झारखंड की निलंबित आईएएस अधिकारी छवि रंजन को ईडी द्वारा किए गए छह दिन के अनुरोध के बजाय चार दिन की रिमांड पर दिया गया था। इस फैसले के चलते उन्हें अब 16 मई तक ईडी के सवालों का जवाब देना होगा।

16 मई को वापस से पेशी होगी छवि रंजन की 

छवि रंजन का मोचन आज समाप्त हो गया। ऐसे मामलों में उसे कोर्ट में लाने का फैसला किया गया। उन्हें पहले ही छह दिनों के लिए हिरासत में लेने की धमकी दी जा चुकी है। ईडी ने कोर्ट से छह दिन की रिमांड भी मांगी थी, लेकिन कोर्ट ने सिर्फ चार दिन की रिमांड दी। 16 मई को छवि रंजन की कोर्ट में वापसी होगी.

4 मई की रात ईडी ने किया था गिरफ्तार
दिनेश राय की अदालत ने छवि रंजन को चार दिनों की रिमांड पर भेजा है। बताया जा रहा है ईडी के लिए यह अहम मौका है जब नये सबूतों के आधार पर छवि रंजन से पूछताछ की जा सकती है। छवि रंजन जब कोर्ट रूम से बाहर निकले तो उदास नजर आये। छवि रंजन को 4 मई की रात को ईडी ने गिरफ्तार किया था। 5 मई को उन्हें पीएमएलए कोर्ट में पेश किया गया था. कोर्ट ने उन्हें जेल भेज दिया था. अगली पेशी पर ईडी की विशेष अदालत ने छवि रंजन को 6 दिन की हिरासत में भेज दिया. हिरासत अवधि 7 मई से शुरू हुई थी अब फिर उन्हें चार दिनों की रिमांड पर भेजा गया है।

खुद को निर्दोष बता रहे हैं निलंबित आईएएस अधिकारी
ईडी ने कोर्ट में छवि रंजन पर जो आरोप लगाए हैं, उनमें बताया है कि दस्तावेज में जालसाजी कर सेना के कब्जेवाली जमीन के अलावा चेशायर होम रोड और बजरा मौजा की जमीन की खरीद-बिक्री की गलत तरीके से की गयी है। प्रेम प्रकाश के माध्यम से सेना के कब्जेवाली जमीन का म्यूटेशन किया गया। इसके लिए छवि रंजन ने एक करोड़ रुपये लिए। ईडी की पूछताछ में छवि रंजन ने प्रेम प्रकाश से संबंध को सिरे से नकार दिया था। छवि रंजन पूछताछ के दौरान खुद को निर्दोष बताते रहे, कई सबूत उनके खिलाफ थे। छवि रंजन अपने अधीनस्थ कर्मचारियों पर सारा दोष मढ़ रहे थे। छवि रंजन ने प्रेम प्रकाश से मिलने की बात से भी इनकार किया। कई सवालों के जवाब में छवि रंजन उलझ गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via