Shivam Shukla Khargon

बहन के शादी टल गयी खुद मौत से जंग लड़ रहा है शिवम् शुक्ला(SHIVAM SHUKLA) , जय श्री राम बोलने पर ये कैसी सजा !

SHIVAM SHUKLA KHARGON

खरगोन में राम नवमी के जुलूस के दौरान हिंसा में घायल शिवम शुक्ला को इंदौर के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती है उसकी हालत गंभीर है। उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है और 24 घंटे बाद भी होश नहीं आया है। जबकि दो दिन बाद उसकी बहन की शादी है, लेकिन जानकारी के मुताबिक शादी कुछ दिनों तक टाल दी गयी है।।

अग्निशमन सेवा (fire service)सप्ताह की शुरुआत

जानकरी के के मुताबिक जब वहां उपद्रव हो रहा था तो उस दौरान पथराव के साथ पेट्रोल बम भी फेंके जा रहे थे। इस दौरान गोलियां भी चली और पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े। उस दौरान शिवम भी राम नवमी के जुलूस में शामिल था । उसे सर पर गंभीर चोट लगी। उसे पहले प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां बेड उपलब्ध नहीं थे। वहां से सरकारी अस्पताल ले जाया गया।

सौहार्द का पर्व रामनवमी में वीडियो के गलत व्याख्या (Fake Narrative) कर विदेशो से भारत को बदनाम करने की कोशिश

वहां डॉक्टरों ने देखा तो उसके सिर में गहरा गड्‌ढा हो चुका था और सांसें चल रही थी। डॉक्टरों ने उसकी हालत देखने के बाद इंदौर रैफर करने को कहा तो चचेरा भाई नीलेश व अन्य उसे इंदौर लाए और एडमिट किया। इस बीच रास्ते में ही उसने होश खो दिया।

कोरोना प्रोत्साहन राशि( corona incentive amount ) की करोड़ो रुपये का हुआ बंदरबांट : सरयू राय

उसकी एक बहन की शादी 17 अप्रैल को है जिसकी तैयारियां चल रही थी तथा निमंत्रण कार्ड भी बांटे जा चुके हैं। इस बीच इस हादसे के बाद परिजन व रिश्तेदार उसके जल्दी अच्छा होने का इंतजार कर रहे हैं। हालांकि कर्फ्यू के चलते उसके मामा इंदौर नहीं आए हैं और माता-पिता को भी यह बताया है कि उसे जल्द होश आ जाएगा। वे अभी निसरपुर में ही हैं।बहन के शादी के निमंत्रण कार्ड बंट चुके हैं

कुख्यात गैंगस्टर डब्लू सिंह का पुलिस के सामने आत्मसमर्पण (surrender)

इंदौर में रात को ही डॉक्टरों ने उसकी सारी जांचें की। परिजन को गोली लगने की आशंका थी लेकिन जांच व ऑपरेशन में नहीं पाई गई। ऑपरेशन करने वाले डॉ. प्रणव घोड़गांवकर ने बताया कि उसके सिर में गहरा घाव है।

भारत सरकार ( Indian government) की एजेंसी ने 17 मार्च 2022 में रोपवे के रखरखाव पर असंतोष जाहिर की थी : प्रतुल शाहदेव

यह घाव किससे हुआ यह कहना मुश्किल है लेकिन चोट इतनी गहरी है कि सिर की कुछ हडिड्यां टूटकर ब्रेन में चली गई। इसके साथ ही कुछ बारीकी सी सामग्री भी ब्रेन में पहुंची। इस पर ऑपरेशन कर उन्हें निकाला गया। वह रात से ही वेंटिलेटर पर है तथा अभी होश नहीं आया है। होश कब तक आएगा यह कहना मुश्किल है।

भारत सरकार ( Indian government) की एजेंसी ने 17 मार्च 2022 में रोपवे के रखरखाव पर असंतोष जाहिर की थी : प्रतुल शाहदेव

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES