जमीन की हेरा-फेरी के मामले कई रसूखदारों के नाम शामिल।

49.5 डिसमिल जमीन लेकर 49.5 कट्ठा जमीन की रजिस्ट्री यानी कुल 81 डिसमिल रजिस्ट्री बड़ा घालमेल !

सौरभ सिन्हा

आरोप है की BJP नेता अजय मारू ने 49.5 डिसमिल को 49 .5 कट्ठा बना दिया यानी 49 की 81 डिसमिल आप चौक है ना । जी हां मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बतौर इसकी रजिस्ट्री और जमाबंदी भी करा लिया गया. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रांची के हरमू मुक्तिधाम के पास 34 कट्ठा आदिवासी खाते की भूमि पर बनी है.सिटी मॉल बानी है उसका मामला अब फंसता नजर आ रहा है । मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक थाना नंबर 205, खाता नंबर 33, प्लॉट नंबर 591, जिसका कुल रकबा 1.15 एकड़ है.
इसे भी पढ़े :-सहायक पुकिसकर्मी पुष्पा कुल्लू की मौत की जिम्मेवार राज्य सरकार,पीड़ित परिजन को 50 लाख मुआवजा एवं एक सदस्य को सरकारी नौकरी मिले : दीपक प्रकाश
राज्य सरकार ने इस खाते से 1966-67 में 65.5 डिसमिल जमीन हरमू सड़क चौड़ीकरण के लिय अधिग्रहण किया था. बतौर इसके लिए सरकार ने 3 मार्च 1975 में 18,228.65 रूपया का भुगतान भी किया था. भूमि के अधिग्रहण के बाद प्लॉट में मात्र 49.5 डिसमिल जमीन बचती है. लेकिन काद्द्वारो ने 49.5 डिसमिल जमीन के स्थान पर 49.5 कट्ठा यानी 81 डिसमिल जमीन का रजिस्ट्री और जमाबंदी कराया गया. इस पूरे मामले में र अधिग्रहण किये जमीन का 32.5 डिसमिल जमीन पर अवैध कब्जा किया गया है ।
इसे भी पढ़े :-अवैध खनन पर हर हाल में रोक लगनी चाहिए, ताकि सरकार को राजस्व का नुकसान नहीं : हेमंत सोरेन
यह भूमि खतियानी रैयत चिनगिया उरांव वल्द जोटो उरांव,कौम उरांव से कबुलियत दस्तावेज से प्राप्त बताया जा रहा है.मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कुल 32.5 डिसमिल जमीन पर साक्ष्य के अनुसार अतिक्रमण किया गया है
उपराजधानी दुमका में मिनी गन फैक्ट्री का पर्दाफाश, भारी मात्रा में हथियार बरामद पुलिस ने 4 लोगों को दबोचा
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह जमीन अजय मारू, पिता सीताराम मारू वो राजेश दोसी,पिता- नवीनचन्द्र दोसी के नाम 32 कट्ठा जमांबदी कायम है मो. एनामुल हक, ​पिता- मो.अजमल अली, 4 कट्ठा भूमि पर जमांबदी कायम है प्रिन्स आजवानी, पिता- तिलकराज आजवानी, 7.5 कट्ठा भूमि पर जमांबदी कायम है. एक्सप्रेस रेजिन्सी लिमिटेड पर ,7.5 कट्ठा भूमि पर जमांबदी कायम है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share via
हिन्दी हिन्दी English English
Live Updates COVID-19 CASES